ANAND RAJPUT

Programmer kaise bane [How to become a programmer in hindi]


प्रोग्रामर कैसे बने [How to become a programmer in hindi ]


आज जिस तरह कंप्यूटर जनक का विस्तार हो रहा है इस क्षेत्र में नए नए पदों पर रोजगार का का सर्जन हो रहा है जिनमें एक अच्छी सी सैलरी सम्मान और सुरक्षा ही मिल रही है ऐसे ही एक बड़ी जॉब फाइल नाम है प्रोग्रामर को लोग सॉफ्टवेयर डेवलपर भी कहते हैं आज के इस ब्लॉग में हम यही बात करने वाले हैं की प्रोग्रामर क्या होता है और सॉफ्टवेयर डेवलपर क्या होता है प्रोग्रामर का काम क्या होता है और प्रोग्रामर को सैलरी कितनी मिलती है और आखिर प्रोग्रामर बनते कैसे हैं और प्रोग्रामर क्या होता है

प्रोग्रामर क्या होता है [What is programmer in hindi]


दोस्तों आज की तारीख में हम अपने चारों और कंप्यूटर से भी घीरे हैं कोई भी ऐसा क्षेत्र नहीं है जहां कंप्यूटर ना हो और हम जानते हैं कि कंप्यूटर एक हार्डवेयर होता है जिससे काम लेने के लिए या इसे चलाने के लिए सॉफ्टवेयर की भी जरूरत होती है जितने भी सॉफ्टवेयर हम देखते हैं या हम जिनका प्रयोग हमारे आस पास होता है उन सभी सॉफ्टवेयर को एक निश्चित प्रक्रिया के तहत बनाया जाता है
जिसे हम सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कहते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में किसी भी सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए कई चरण होते हैं जैसे कि :=

  1. Analysis
  2. Design
  3. Coding(Programming)
  4. Testing
  5. Deployment
  6. Support & Maintenance

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की तीसरे चरण में प्रोग्रामिंग आता है प्रोग्रामिंग का मतलब है की सॉफ्टवेयर निर्माण के लिए किसी ने धारित निर्धारित कंप्यूटर लैंग्वेज में सॉफ्टवेयर बनाने का Code लिखना क्योंकि सॉफ्टवेयर की एक परिभाषा यह भी है की सॉफ्टवेयर कंप्यूटर भाषा में लिखे गए स्टेटमेंट के समूह जिन्हें हम प्रोग्राम कहते हैं उन प्रोग्राम्स का समूह होता है जो व्यक्ति कंप्यूटर लैंग्वेज का प्रयोग करके कंप्यूटर के प्रोग्राम को लिखता है उसे प्रोग्रामर कहते हैं तो दोस्तों ये थी जानकारी की प्रोग्रामर क्या होता है

 प्रोग्रामर कैसे बने [ How to become a programmer in hindi ]

एक सफल प्रोग्रामर बनने के लिए आपको को प्रोग्रामिंग भाषा जिसका आप प्रयोग कर रहे हैं उसके वाक्य विन्यास यानी सिंटेक्स (Sintenx) यानी विस्तृत ज्ञान आवश्यक है लेकिन सिंटेक्स कहानी का एक छोटा सा हिस्सा भर है सिर्फ प्रोग्राम लिखना काफी नहीं जो सिर्फ रन करें परंतु यह भी आवश्यक है

प्रोग्राम का रिजल्ट भी आशा अनुरूप ही हो अर्थात जो प्रोग्राम अपने अर्थ को कंप्यूटर को स्पष्ट तरीके से समझा सके सकता है वही सही प्रोग्राम माना जाता है साथ में ही अच्छे प्रोग्रामर प्रोग्राम को इस तरीके से लिखते हैं कि वह दूसरे प्रोग्रामर को आसानी से समझ में आ जाए ज्यादातर प्रोग्राम Team में बनाते हैं और अगर हम अकेले भी बनाते हैं तो भी हमें उसको कई बार पढ़ना और बदलना पड़ता है

इसीलिए अच्छे से जमा कर लिखा गया प्रोग्राम लंबे समय ने बहुत ही उपयोगी साबित होता है इसीलिए प्रोग्राम प्रोग्रामर को चाहिए कि वह इस बात को का ध्यान रखें

Tips For Becoming a Programmer [प्रोग्रामर बनने के टिप्स]

  1. Good grip and understanding of computer languages. Language that is in practice.[ कंप्यूटर लैंग्वेज की अच्छी पकड़ और समाज ऐसी लैंग्वेज जो चलन में हो ]
  2. Good logical ability (Reasoning and Logic) [अच्छी तार्किक क्षमता यानी रिजनिंग एंड लॉजिक ]
  3. Detailes information about the computer’s basic function. [कंप्यूटर के Basic फंक्शन की विस्तृत जानकारी ]
  4. Computer flow chart information. [कंप्यूटर की flow chart की जानकारी ]
  5. Good sense of decision making. [निर्णय लेने की अच्छी समझ ]
  6. The exact information of English. [इंग्लिश की जानकारी ]

     
प्रोग्रामर की सैलरी कितनी होती है [how much Sallary of programmer]


किसी भी कंपनी में या प्रतिष्ठित संस्थान में प्रोग्रामर की प्रोफाइल बहुत अच्छी और सम्मानजनक होती है किसी भी प्रोग्राम यह सॉफ्टवेयर डेवलपर ई सैलेरी उसके ज्ञान और अनुभव पर निर्भर करती है फिर भी आप प्रोग्रामर के तौर पर प्रतिमा प्रतिमाह 25000 से लेकर लाखों रुपए तक कमा सकते हैं
आपके के अनुभव और कंपनी Growth के अनुसार आपकी सैलरी बढ़ती चली जाती है एक बात याद रखें किसी भी प्रोग्रामर या डेवलपर का कार्य बहुत ही चुनौती पूर्ण होता है Error Free प्रोग्रामिंग प्रोग्राम लिखने का तरीका समय पर काम को अच्छी तरह से समाप्त करने का का दबाव और अपनी मैनेजर के साथ अच्छे संबंध यह सारी चुनौतियां से अगर आप अच्छी तरह नीपट पाते हैं
तो आप कह सकते हैं कि आप प्रोग्रामर प्रोफाइल के लिए ही बने हैं प्रोग्रामर के करियर में एक और बड़ी चुनौती होती और वह चुनौती है कि रोज ना कुछ ना कुछ या सीखते रहना और अपने कंप्यूटर लैंग्वेज की जानकारी को समय-समय पर अपडेट करते रहना और हम उम्मीद करते हैं की हमारा ये blog आपके लिए बहुत ही यूज़फुल और हेल्पफुल रहा होगा अगर यह blog आपको पसंद आया हो तो इस blog को शेयर करें धन्यवाद

Post a comment

0 Comments